Home Travel देश के बड़े तीर्थ स्थलों की श्रृंखला में जुड़ेगा परशुराम कुंड क्षेत्र

देश के बड़े तीर्थ स्थलों की श्रृंखला में जुड़ेगा परशुराम कुंड क्षेत्र

31
0
Google search engine

शेखावत, अरुणाचल के उप मुख्यमंत्री सहित नव निर्वाचित प्रमुख लोकसेवकों का हुआ अभिनंदन

समारोह में राजस्थान व हरियाणा से भी बड़ी संख्या में पहुंचे विप्रजन

नई दिल्ली, दिव्यराष्ट्र/ अरुणाचल स्थित परशुराम कुंड देश के एक प्रमुख दर्शनीय तीर्थ स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। ये विकास केंद्र व अरुणाचल सरकार मिलकर करेगी। केंद्रीय संस्कृति एवम् पर्यटन मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने मंगलवार रात नई दिल्ली में विप्र फाउंडेशन की ओर से आयोजित स्वस्ति कामना समारोह में की। शेखावत ने कहा कि उनका सपना हैं कि परशुराम कुंड क्षेत्र का विकास अयोध्या तथा अन्य देव स्थलों की तर्ज पर हो। मुझे लगता हैं कि भगवान ने इसी मनोकामना की पूर्ति के लिए उन्हें संस्कृति एवम् पर्यटन मंत्रालय का दायित्व दिलवाया हैं। उनकी कोशिश रहेगी इस क्षेत्र का हर संभव विकास हो ताकि धार्मिक पर्यटन के रूप में परशुराम कुंड भी देश में एक प्रमुख स्थल बनकर उभरे। केंद्रीय मंत्री ने अरुणाचल के उप मुख्यमंत्री चाऊना मीन के योगदान की भी सराहना की।

समारोह में शेखावत के साथ अरुणाचल के उप मुख्यमंत्री चाऊना मीन तथा नव निर्वाचित लोकसेवकों का भी अभिनंदन किया गया। चाऊना मीन ने बाल्यकाल से ही परशुराम कुंड से अपने जुड़ाव को बताते हुए कहा कि वे न केवल परशुराम कुंड को प्रमुख तीर्थाटन क्षेत्र बनाने के प्रति वचनबद्ध हैं, बल्कि भारतीय संस्कृति को बचाए रखने के सभी प्रकल्पों में योगदान के लिए संकल्पबद्ध हैं।

विप्र फाउंडेशन के संस्थापक सुशील ओझा ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह व अरुणाचल के उप मुख्यमंत्री का विशेष अभिनंदन और आभार व्यक्त करते हुए कहा कि परशुराम कुंड पर विप्र फाउंडेशन जो 54 फीट ऊंची भगवान परशुराम की मूर्ति स्थापित कर रहा हैं उसमें इन्हीं दोनों की अहम भूमिका रही हैं। ओझा ने जानकारी दी कि मूर्ति स्थल का भूमिपूजन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कर कमलों से हो चुका हैं। पंच धातु से निर्मित मूर्ति तीर्थ स्थल पर पहुंच चुकी हैं । वर्षा ऋतु समाप्त होते ही एक गरिमामय आयोजन कर मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी। इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से समय का भी केंद्रीय मंत्री से आग्रह किया। समारोह की अध्यक्षता विप्र फाउंडेशन के राष्ट्रीय संरक्षक रतन शर्मा गुवाहाटी ने की। समारोह में सम्मानित होने वाले अन्य लोक सेवकों में केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री भागीरथ चौधरी, भाजपा के राजस्थान अध्यक्ष सीपी जोशी, सांसद मंजू शर्मा, पीपी चौधरी, लुंबाराम, उड़ीसा से सांसद प्रदीप कुमार पुरोहित ,सुकांत पाणिग्रही व नवचरण माझी शामिल हैं।

इस अवसर पर पूर्व सांसद रामचरण बोहरा, लघु उद्योग भारती के अध्यक्ष घनश्याम ओझा, विप्र फाउंडेशन के राष्ट्रीय संरक्षक धर्म नारायण जोशी, बाबूलाल पारीक, विप्र वाहिनी पूर्व प्रमुख चंद्रकांता राजपुरोहित, राष्ट्रीय समन्वयक श्रीकिशन जोशी, राष्ट्रीय महामंत्री के.के.शर्मा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधेश्याम सिखवाल, ओम प्रकाश मिश्रा, भुवनेश्वर शर्मा , राष्ट्रीय सचिव परमेश्वर शर्मा, नरेंद्र हर्ष, नवीन शर्मा, प्रमोद पालीवाल, भंवर पुरोहित, मुकेश रामपुरा, जयपुर जोन प्रभारी पंकज जोशी, जोन 1 जयपुर के अध्यक्ष राजेश कर्नल, जोन 1 ए उदयपुर के अध्यक्ष नरेंद्र पालीवाल, जोन 1 बी बीकानेर के अध्यक्ष धनसुख सारस्वत, जोन 1 सी जोधपुर के अध्यक्ष अशोक टाइगर, जोन 1 डी भरतपुर के वेद प्रकाश उपाध्याय, जोन 1 ई कोटा के कृष्ण मुरारी चतुर्वेदी, पश्चिम बंगाल के किशन गोस्वामी, दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष कमल शर्मा, हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप वशिष्ठ, उड़ीसा के प्रदेश अध्यक्ष महेश शर्मा, राष्ट्रीय सह कोषाध्यक्ष मनीष पारीक, विक्की के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष महेश शर्मा, इस्पेक के राष्ट्रीय प्रभारी प्यारेलाल शर्मा आदि प्रमुख रूप से शामिल हैं।

विप्र फाउंडेशन के इस समारोह में देशभर खासकर हरियाणा, राजस्थान से बड़ी संख्या में पदाधिकारी और विप्रजन पहुंचे। समारोह में संत, न्यायाधीश, , आईएएस, आईपीएस एडिशनल सॉलिसिटर जनरल जैसे वरिष्ठ सेवारत अधिकारी भी मौजूद थे।
यह आयोजन विप्र फाउंडेशन जोधपुर जोन की ओर से रखा गया था।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here