Home बिजनेस सालासर टेक्नो इंजीनियरिंग लिमिटेड के मुनाफे में वृद्धि

सालासर टेक्नो इंजीनियरिंग लिमिटेड के मुनाफे में वृद्धि

42
0
Google search engine

दिव्या राष्ट्र, नई दिल्ली: सालासर टेक्नो इंजीनियरिंग लिमिटेड (बीएसई: 540642, एनएसई: SALASAR), एक वन-स्टॉप इंजीनियरिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर सॉल्यूशंस प्रोवाइडर है। कंपनी रेलवे और पावर सेक्टर्स के लिए टर्नकी ईपीसी सेवाएं प्रदान करने में लगी हुई है और टेलीकॉम टॉवर्स, मोनोपोल्स और अन्य हैवी स्टील स्ट्रक्चरर्स के डिज़ाइन और निर्माण में भी लगी हुई है।

परिणामों पर टिप्पणी करते हुए, सालासर की मैनेजमेंट टीम ने कहा कि, “हमें फाइनेंशियल ईयर 24 की चौथी तिमाही और फाइनेंशियल ईयर 24 के लिए अपने व्यवसाय और वित्तीय प्रदर्शन को साझा करते हुए खुशी हो रही है। हमारा ऑपरेशनल रेवेन्यू फाइनेंशियल ईयर 24 की चौथी तिमाही में 3,673.3 मिलियन रुपये तक पहुंच गया, जो  फाइनेंशियल ईयर 23 की चौथी तिमाही में 2,947 मिलियन रुपये से अधिक था और कुल ऑपरेशनल रेवेन्यू फाइनेंशियल ईयर 23 के  10,049.0 मिलियन रुपये की तुलना में फाइनेंशियल ईयर 24 के लिए 12,084.3 मिलियन रुपये रहा। यह वृद्धि पावर, रेलवे और टेलीकॉम में हमारे विविध ईपीसी सॉल्यूशंस की बढ़ती मांग से प्रेरित थी।

हमारा एबिटा (EBITDA) फाइनेंशियल ईयर 23 की चौथी तिमाही में 298.5 मिलियन रुपये से फाइनेंशियल ईयर 24 की चौथी तिमाही के लिए 364.6 मिलियन रुपये से बढ़ा और फाइनेंशियल ईयर 24 के लिए यह 1,224.2 मिलियन रुपये से ऊपर पहुंच गया, जबकि वित्त वर्ष 23 में यह 918.1 मिलियन रुपये, था जो क्रमशः 22.1% और 33.3% के सुधार को दर्शाता है। वित्त वर्ष 24 में एबिटा (EBITDA) मार्जिन 10.1% था, जबकि वित्त वर्ष 23 में यह 9.1% था, जिसमें कुशल निष्पादन के कारण 100 बीपीएस की वृद्धि देखी गई।

 शुद्ध लाभ (PAT) फाइनेंशियल ईयर 23 की चौथी तिमाही में 147.3 मिलियन रुपये की तुलना में फाइनेंशियल ईयर 24 की चौथी तिमाही के लिए 169.7 मिलियन रुपये था और फाइनेंशियल ईयर 23 में 492.5 मिलियन रुपये की तुलना में फाइनेंशियल ईयर 24 के लिए यह  529.3 मिलियन रुपये रहा।  फाइनेंशियल ईयर 24 के लिए शुद्ध लाभ (PAT) मार्जिन 4.4% था जबकि फाइनेंशियल ईयर 23 के लिए यह 4.0% था।

हमारी 24,600 मिलियन रुपये की वर्तमान ऑर्डर बुक ग्राहकों के विश्वास को प्रदर्शित करता है और भविष्य के विकास के लिए एक मज़बूत आधार स्थापित करता है। रेलवे, पावर और टेलीकॉम सेक्टर्स  में उच्च मांग हमारे समाधानों की प्रभावशीलता को उजागर करती है और हमारे स्ट्रेटिजिक फोकस के साथ अलाइन होती है, जिससे सतत विकास संभव होता है।

एक छत के नीचे अधिक व्यापक ईपीसी सेवाएं प्रदान करने के स्ट्रेटिजिक ऑब्जेक्टिव के साथ, हमने ईएमसी (EMC) लिमिटेड का अधिग्रहण किया, जिसका मूल्य 1,780 मिलियन रुपये था।  इस अधिग्रहण से सालासर को विशेष फायदा होगा, सालासर की बाज़ार में उपस्थिति बढ़ेगी, इसकी सर्विस  पोर्टफोलियो का विस्तार होगा और बढ़ी हुई दक्षता और लाभप्रदता के लिए परिचालन ताल-मेल बढ़ेगा। ईएमसी (EMC) लिमिटेड, भारत के साथ-साथ विदेशी बाज़ार में बड़े पैमाने पर सफल प्रोजेक्ट डिलीवरी के लिए प्रसिद्ध है, जो पावर ट्रांसमिशन और सबस्टेशन सेगमेंट में सालासर की स्थिति को और मज़बूत करता है।

हमारा मिशन अपने स्टेकहोल्डर्स के लिए सस्टेनेबल ग्रोथ सुनिश्चित करते हुए असाधारण इंजीनियरिंग सॉल्यूशंस देना है। हम पावर ट्रांसमिशन, रेलवे इलेक्ट्रफिकैशन, टेलीकॉम, स्मार्ट सिटीज़, ब्रिज और हैवी स्ट्रक्चरर्स सहित भारत की ग्लोबल प्रतिस्पर्धात्मकता का समर्थन करने वाले महत्वपूर्ण इंफ्रास्ट्रक्चर को देने के लिए अपनी क्षमता बढ़ाने में निवेश करेंगे। हम अपनी समर्पित टीम को सभी परिस्थितियों में उनके अटूट समर्थन के लिए धन्यवाद देते हैं।”

2006 में इनकॉरपोरेटेड, सालासर टेक्नो इंजीनियरिंग लिमिटेड भारत में अनुकूलित स्टील फैब्रिकेशन और इंफ्रास्ट्रक्चर सॉल्यूशंस प्रदाता है। यह इंजीनियरिंग, डिजाइनिंग, फैब्रिकेशन, गैल्वनाइजेशन और डेप्लॉयमेंट करके 360-डिग्री सॉल्यूशंस देता है। सालासर टेक्नो इंजीनियरिंग लिमिटेड के प्रोडक्ट पोर्टफोलियो में टेलीकम्युनिकेशन टावर्स, पावर ट्रांसमिशन लाइन टावर्स, स्मार्ट लाइटिंग पोल्स, यूटिलिटी पोल्स , हाई मास्ट पोल्स, स्टेडियम लाइटिंग पोल्स, मोनोपोल्स, सबस्टेशन स्ट्रक्चर्स, सोलर मॉड्यूल माउंटिंग स्ट्रक्चर्स, रेलवे इलेक्ट्रिफिकेशन (ओएचई), रोड और रेलवे ओवर-ब्रिज (आरओबी) और कस्टमाइज्ड गैल्वनाइज्ड और नॉन-गैल्वनाइज्ड स्टील स्ट्रक्चर्स सम्मिलित हैं। सालासर टेक्नो इंजीनियरिंग लिमिटेड की सर्विसेस में रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन, पावर ट्रांसमिशन लाइन्स और सोलर पावर प्लांट जैसे प्रोजेक्ट्स के लिए संपूर्ण इंजीनियरिंग, खरीद और कंट्रोल (ईपीसी) प्रदान करना शामिल है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here