Home Fashion जस में उमड़े देश- विदेश के खरीदार

जस में उमड़े देश- विदेश के खरीदार

30
0
Google search engine

जयपुर, दिव्यराष्ट्र/ सीतापुरा के नोवाटेल एग्जीबिशन सेंटर में जस 2024 का भव्य शुभारंभ हुआ। इसका उद्घाटन मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने किया। उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता लाडपुरा विधायक कल्पना देवी ने की। समारोह में विशिष्ट अतिथि के तौर पर नेशनल जेम्स ज्वैलरी काउंसिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन प्रमोद डेरेवाला ने शिरकत की। इनके साथ ज्वैलर्स एसोसिएशन जयपुर के पूर्व अध्‍यक्ष निर्मल बरडिया, वर्तमान अध्‍यक्ष आलोक सोंखिया, उपाध्यक्ष राजू मंगोड़ीवाला , महासचिव नीरज लूणावत, जस संयोजक अशोक माहेश्वरी, सह संयोजक नरेश अग्रोया, कोषाध्यक्ष गोविंद प्रकाश अग्रवाल के साथ ज्वैलर्स एसोसिएशन और जस आयोजन समिति के सभी सदस्य उद्घाटन समारोह में उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री भजनलाल ने प्रदर्शनी स्थल का फीता काटकर शुभारंभ किया। इसके बाद मुख्य समारोह स्थल पर दीप प्रज्वलित कर जस- 2024 का औपचारिक उद्घाटन किया। जयपुर ज्वैलर्स एसोसिएशन के अध्‍यक्ष आलोक सोंखिया, उपाध्‍यक्ष राजू मंगोड़ीवाला, महासचिव नीरज लूणावत और शो के संयोजक अशोक माहेश्वरी ने मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा का गुलदस्ता देकर स्वागत किया। जयपुर ज्वेलर्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष राजू मंगोडीवाला ने बताया कि राजस्थान की सबसे पुरानी संस्थाओं में से यह एक है जो लगभग 97 वर्ष पुरानी है।विगत वर्षों में एक्जीबिशन व संस्था के माध्यम से जन सरोकार व समाजसेवा में भी अग्रणी बनकर कार्य कर रहे है।मुख्यमंत्री को संबोधन के लिए आमंत्रित करते हुये और बजट की व्यस्तता के बीच शो के उद्घाटन समारोह में शिरकत करने के लिए आभार जताया । उपाध्यक्ष राजू मंगोड़ीवाले ने मुख्यमंत्री को उनकी भावना के अनुसार शो के दौरान कारीगर अवार्ड शो से प्रोत्साहित की भी जानकारी दी। जयपुर ज्वैलर्स एसोसिएशन के महासचिव नीरज लुणावत ने मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा और लाडपुरा विधायक कल्पना देवी से जेम वर्ल्‍ड मेगजीन का विमोचन करने का आग्रह किया।

ज्वैलरी ट्रेड को सरकार का मिलेगा पूरा सहयोग- मुख्यमंत्री

अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्‍थान से होने वाले 83, 704 करोड़ रुपये के कुल निर्यात में 11183 करोड़ रुपये की भागीदारी जेम्‍स- ज्वैलरी कारोबार की है। जयपुर में इस व्यापार को और बढ़ाने के लिए सरकार पूरा सहयोग करेगी। जयपुर से ज्‍यादा इंटरनेशनल फ्लाइट शुरू की जाएंगी। केंद्र सरकार के सहयोग से जयपुर में जेम्स- ज्वैलरी पार्क विकसित किया जाएगा। जिसमें 1 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि जयपुर का रत्ना भूषण व्यापार राजस्‍थान ही नहीं पूरे देश की शान है। जयपुर नगरी राजस्‍थान के नगरों की पटरानी है तो यहां को रत्‍नाभूषणों का व्‍यापार पटरानी का श्रंगार है। कालीबंगा की खुदाई में भी चूड़ियां निकली थीं इसलिए राजस्‍थान में गहनों का एक इतिहास भी है। हमारे सामाजिक जीवन में कोई भी उत्सव गहनों के बिना पूरा नहीं होता। गहने आभूषण भी हैं और मुश्किल वक्त में बचत के तौर पर काम भी आते हैं। गहनें समाज में समृद्धि का प्रतीक हैं। पूरे देश में जौहरी बाजार केवल जयपुर में ही है । ज्वेलर्स के प्रति खरीदारों का विश्वास होता है, यह विश्वास पीढ़ी दर पीढ़ी कायम रहना चाहिए। जयपुर में जेम्‍स- ज्वैलरी के व्‍यापार के साध पर्यटन में भी वृद्धि होती है। मैं सभी ज्वैलर्स से आग्रह करता हूं कि रत्‍नाभूषण निर्माण से जुडे सभी कारीगरों के विकास को भी ध्‍यान में रखें। सरकार जयपुर में ज्वैलरी ट्रेड के लिए अपनी तरफ से पूरा सहयोग करेगी।

ज्वैलर्स एसोसिएशन जयपुर के साथ एक रिश्ता बन गया- विधायक कल्पना देवी

लाडपुरा विधायक और कोटा पूर्व राजपरिवार की सदस्‍य विधायक कल्‍पना देवी ज्वैलरी शो के आयोजन और अपने स्‍वागत सत्‍कार से बेहद खुश नजर आईं। उन्‍होनें कहा कि वे पहली बार जस के ज्वैलरी शो में आईं हैं, लेकिन अब ज्वैलर्स एसोसिएशन के साथ रिश्‍ता ऐसा बन गया है कि यहां हर बार आना चाहेंगी। उन्‍होनें अपने संबोधन में कहा कि ज्वैलरी शो जयपुर की ज्वैलरी क्रॉफ्ट, डिजाइन के साथ यहां के हैरीटेज और कल्‍चर को अंतर्राष्‍ट्रीय मंच प्रदान करता है। यहां से जयपुर के रत्‍नाभूषण पूरी दुनिया में पहुंचते हैं। जयपुर में रत्‍नाभूषणों का कारोबार हजार करोड़ का है और इसके माध्‍यम से 5 लाख लोगों को रोजगार मिलता है। बीच में कोविड के बावजूद जयपुर में जवाहरात का व्‍यापार फिर से तेज रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। इसके पीछे यहां ज्वैलर्स और रत्‍नव्‍यवसायियों की लगन और मेहनत है। गहनों के प्रति महिलाओं का स्‍वभाविक लगाव होता है। 10वीं क्‍लास पास करने पर माता-पिता की ओर से दिया गया एमरेल्‍ड और डायमंड के टॉप आज भी उन्‍होनें सहेज कर रखे हुए हैं। उन्‍होनें यह भी कहा कि मोदी जी के विकसित भारत के सपने में राजस्‍थान भी अपनी भागीदारी निभाएगा।

जेम बोर्स के लिए सरकार अनुदान राशि करे 250 करोड़- प्रमोद डेरेवाला

नेशनल जेम्स ज्वैलरी काउंसिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन प्रमोद डेरेवाला ने अपने संबोधन में कहा कि ज्वैलर्स एसोसिएशन का अपना गौरवपूर्ण इतिहास है। एसोसिएशन में सभी पदाधिकारी और सदस्‍य जयपुर में रत्‍न और जेवरात के व्‍यापार को बढ़ाने के लिए प्रयास करते हैं। एसोसिएशन का एक भी पैसा सदस्‍य अपने निजी काम में नहीं लेते। उन्‍होनें बताया कि केंद्र सरकार ने बुलियन पर हॉलमार्किंग की जिम्‍मेदारी एनजीजेसीआई को सोंपी है। उन्‍होनें मुख्‍यमंत्री से जेम बोर्स के लिए केंद्र सरकार से सहयोग राशि में वृद्धि कराने की मांग की। यह राशि पहले 150 करोड़ है, जिसे 250 करोड़ किया जाए। जयपुर में जेम बोर्स बनने से जयपुर की जवाहरात इंडस्‍ट्री में ज्‍यादा राजस्‍व और रोजगार के अवसर मिलेंगे और जयपुर के पर्यटन को भी लाभ मिलेगा।

विकसित भारत और विकसित राजस्‍थान में जयपुर का जवाहरात व्यवसाय निभाएगा अपनी पूरी जिम्मेदारी- आलोक सोंखिया

ज्वैलर्स एसोसिएशन जयपुर के अध्‍यक्ष आलोक सोंखिया ने अपने संबोधन में कहा कि ज्वैलर्स एसोसिएशन जयपुर का पुराना गौरवपूर्ण इतिहास है। इस व्‍यवसाय के माध्‍यम से 5 लाख लोगों को रोजगार मिलता है। साल में एक बार ज्वैलरी शो के साथ प्रत्‍येक 4 महीने में जेम स्‍टोन शो का आयोजन किया जाता है। एसोसिएशन जल्‍दी ही जयपुर में जेम कटिंग ट्रेनिंग सेंटर खोलने की योजना बना रहा है। आलोक सोंखिया ने मुख्‍यमंत्री से जेम बोर्स में सहयोग और प्रदेश के बजट में ज्‍यादा अंतर्राष्‍ट्रीय फ्लाईट शुरू करने की मांग की। सोंखिया ने मुख्यमंत्री को विश्वास दिलाया कि मोदी जी के विकसित भारत और मुख्यमंत्री जी के विकसित राजस्‍थान की मुहिम में जयपुर का जवाहरात व्यवसाय अपना पूर्ण योगदान करेगा।

जस- 2024 रचेगा सफता का कीर्तिमान- अशोक माहेश्‍वरी
जस- 2024 के संयोजक अशोक माहेश्‍वरी ने कहा कि समय कम था, लेकिन सभी ने मिलकर एक शानदार ज्वैलरी शो के आयोजन का प्रयास किया है। इस कनेक्‍ट टू सोर्स शो में 15 सो रजिस्‍टर्ड बायर और 6 सौ से ज्‍यादा हॉस्‍टेड बायर आए हैं। माहेश्‍वरी ने विश्‍वास जताया कि यहां आने वाले एग्‍जीबिटर्स और बायर्स दोनों के लिए यह शो बेहद लाभदायक रहेगा। इस प्‍लेटफॉर्म से बिजनेस नेटवर्क ओर रिलेशन से भविष्‍य में व्‍यापार के नए अवसर पैदा होंगे। यह शो जयपुर की पहचान को रत्‍न नगरी के तौर पर अंतर्राष्‍ट्रीय मार्केट में और मजबूत करेगा।

यह शो अपनी भव्यता का नया कीर्तिमान रचने वाला है। इस बार यह शो 40 प्रतिशत ज्यादा विस्‍तृत और विशाल है । इसमें इस बार 275 बूथ पर रंगीन रत्न और खूबसूरत रत्न आभूषणों का नायाब नजारा नजर आ रहा है। इसमें 161 बूथ जेमस्टोन और 114 बूथ ज्वेलरी के होंगे। जस-2024 में जयपुर के सभी प्रतिष्ठित ज्वैलर और रत्न व्यवसायी अपने बूथ लगा रहे हैं साथ ही दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, कोलकाता, मेरठ जैसे शहरों से भी 14 से ज्यादा एग्जीबिटर्स भी इसमें भाग ले रहे हैं। शो में भाग लेने के लिए दुनियाभर के 15 सौ से ज्यादा ट्रेड बायर्स ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। इसके अलावा 6 सौ से ज्यादा होस्‍टेड बायर भी हैं। इस बार जयपुर की कुंदन- मीना- पोलकी की जड़ाऊ ज्वेलरी का भव्य प्रदर्शन किया जा रहा है । इस बार जयपुर के ज्वैलर्स ने कुंदन- मीना- पोलकी जड़ाऊ ज्वेलरी के लिए मॉडर्न डिजाइन और लेटेस्ट पैटर्न तैयार किए हैं, जिनका इस शो में प्रदर्शन किया जा रहा है। इसके अलावा डायमंड और जेम स्टोन ज्वैलरी के अब तक के सबसे शानदार डिजाइन इस शो में प्रस्‍तुत किए जा रहे हैं। शो में स्वर्णाभूषण की विस्तृत रेंज और डिजाइन प्रदर्शित किए गए हैं। सिल्वर ज्वैलरी और ऑर्नामेंट भी देश- विदेश के ट्रेड बायर्स को आकर्षित कर रहे हैं।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here