Home बिजनेस गोदावरी बायोरिफायनरीज लिमिटेड ने सेबी के यहां डीआरएचपी दाखिल किया

गोदावरी बायोरिफायनरीज लिमिटेड ने सेबी के यहां डीआरएचपी दाखिल किया

29
0
Google search engine

गोदावरी बायोरिफायनरीज लिमिटेड, जो भारत की सबसे बड़ी एकीकृत बायो-रिफाइरी और एथेनॉल के सबसे बड़े उत्‍पादकों में से एक एवं भारत में एथेनॉल-आधारित केमिकल्‍स तैयार करने में अग्रणी है, ने बाजार विनियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (”सेबी”) के यहां अपना ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्‍पेक्‍टस दाखिल किया है। इक्विटी शेयर्स, बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध किये जाने हेतु प्रस्‍तावित हैं।

गोदावरी बायोरिफाइनरीज लिमिटेड ने जैव-आधारित रसायनों, सुगर, रेक्टिफाइड स्पिरिट्स, अल्‍कोहल के अन्‍य ग्रेड्स एवं पावर, जिनका उद्योगों में उपयोग किया जाता है, के उत्‍पाद पोर्टफोलियो को विविधीकृत किया है। यह कंपनी दुनिया भर में एमपीओ की सबसे बड़ी उत्‍पादक है, दुनिया भर में प्राकृतिक 1, 3 ब्‍युटिलीन ग्‍लाइकॉल के सिर्फ दो निर्माताओं में से एक है, भारत में एथाइल एसिटेट की चौथी सबसे बड़ी उत्‍पादक है, और भारत में बायो इथाइल एसिटेट का उत्‍पादन करने वाली एकमात्र कंपनी है।

यह कंपनी, विविधीकृत सोमैय्या ग्रुप की प्रतिष्ठित कंपनी है, जिसकी शिक्षा, कृषि शोध, नवीकरणीय ऊर्जा एवं स्‍वास्‍थ्‍य सेवा उद्योगों में रूचि है।

कंपनी की योजना कुल 370 करोड़ रु. तक के फ्रेश इश्‍यू और 65,58,278 इक्विटी शेयर्स के ऑफर फॉर सेल के जरिए फंड जुटाने की है। ऑफर फॉर सेल में मंडला कैपिटल एजी लिमिटेड के 49,26,983 इक्विटी शेयर्स; समीर शांतिलाल सोमैय्या के 5,00,000 इक्व्टिी शेयर्स; सोमैय्या एजेंसीज प्राइवेट लिमिटेड के 5,00,000 इक्विटी शेयर्स; फिल्मिडिया कम्‍यूनिकेशन सिस्‍टम्‍स प्राइवेट लिमिटेड के 3,00,000 इक्विटी शेयर्स, सोमैय्या प्रोपर्टीज एंड इन्‍वेस्‍टमेंट प्राइवेट लिमिटेड के 1,31,295 इक्विटी शेयर्स और लक्ष्‍मीवाडी माइंस एंड मिनरल्‍स प्राइवेट लिमिटेड के 200,000 इक्विटी शेयर्स शामिल हैं।

कंपनी ने इश्‍यू से होने वाली शुद्ध आय का उपयोग अग्रलिखित की फंडिंग के लिए करने का प्रस्‍ताव दिया है: 1) कंपनी द्वारा लिये गये कुछ ऋणों, जिनकी प्राक्‍कलित राशि 214 करोड़ रु. है, के आंशिक या पूर्ण चुकौती/पूर्व-भुगतान 2) 44.8 करोड़ रु. की प्राक्कलित राशि तक सुगरकेन क्रशिंग एक्‍सपैंशन के लिए पूंजीगत व्‍यय की फंडिंग, 3) 10.6 करोड़ रु. की प्राक्कलित राशि तक पोटाश यूनिट के लिए पूंजीगत व्‍यय की फंडिंग और शेष राशि का उपयोग सामान्‍य कॉर्पोरेट उद्देश्‍य के लिए।

ऑफर के बुक रनिंग लीड मैनेजर इक्विरस कैपिटल प्राइवेट लिमिटेड और जेएम फाइनेंशियल लिमिटेड हैं। कंपनी के कानूनी परामर्शदाता, मंडला कैपिटल एजी लिमिटेड और भारतीय कानून के अनुसार प्रवर्तक विक्रेता शेयरधारक क्रमशः खेतान एंड कंपनी, डीएसके लीगल एडवोकेट्स एंड सॉलिसिटर्स एंड इकॉनमिक लॉज प्रैक्टिस, अधिवक्ता और सॉलिसिटर हैं।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here