Home बिजनेस शेयर इंडिया सिक्योरिटीज के लाभ में 28.8 प्रतिशत की वृद्धि

शेयर इंडिया सिक्योरिटीज के लाभ में 28.8 प्रतिशत की वृद्धि

56
0
Google search engine

मुंबई: कैपिटल मार्केट में कस्टमाइज्ड सॉल्यूशन देने वाली टेक्नोलॉजी ड्रिवेन फाइनेंशियल सर्विस प्रोवाइडर शेयर इंडिया सिक्योरिटीज लिमिटेड (बीएसई: 540725, एनएसई: SHAREINDIA) ने 31 मार्च 2024 को समाप्त तिमाही और वर्ष के लिए अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा की है।

31 मार्च 2024 को समाप्त तिमाही के लिए, रिवेन्यु 465 करोड़ रुपये दर्ज किया गया, जो साल दर साल में 36.6% की वृद्धि है। ईबीआईटीडीए सालाना आधार पर 11.4% बढ़कर 157 करोड़ रुपये (Q4FY23) से 175 करोड़ रुपये (Q4FY24) हो गया। प्रॉफिट आफ्टर टैक्स में सालाना 8.3% की वृद्धि दर्ज की गई, जो 116 करोड़ रुपये हो गई।

31 मार्च 2024 को समाप्त हुए वर्ष में राजस्व 36.3% की वृद्धि के साथ 1483 करोड़ रुपये हो गया। ईबीआईटीडीए 31.5% की वृद्धि के साथ 663 करोड़ रुपये रहा। वहीँ प्रॉफिट आफ्टर टैक्स 426 करोड़ रुपये हो गया है, जो सालाना आधार पर 28.8% की वृद्धि है।

प्रदर्शन पर टिप्पणी करते हुएशेयर इंडिया सिक्योरिटीज लिमिटेड के सीईओ और होल टाइम डायरेक्टर श्री सचिन गुप्ता ने कहा, “हमें यह घोषणा करते हुए बहुत खुश हो रही है कि वित्त वर्ष 2024 में हमारी कंपनी ने शानदार प्रदर्शन किया है, जो हमारी ग्रोथ और इनोवेशन की इस यात्रा में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। हमने अपनी स्थापना के बाद से वित्त वर्ष 24 में अब तक का सबसे ज्यादा रिवेन्यु और प्रॉफिट आफ्टर टैक्स (पीएटी) प्राप्त किया है। हमारा रिवेन्यु साल-दर-साल प्रभावशाली 36% बढ़कर 1,483 करोड़ रुपये पर पहुंच गया, और हमारा पीएटी 29% बढ़कर ₹426 करोड़ रुपये हो गया। ये उपलब्धियां लगातार बेहतर होने की हमारी अटूट प्रतिबद्धता और बदलते बाजार गतिशीलता के बीच हमारे व्यापार मॉडल के लचीलेपन को दर्शाती है।

हमारा क्लाइंट बेस के विस्तार करने की हमारी प्रतिबद्धता के महत्वपूर्ण परिणाम मिले हैं, हमारे ब्रोकिंग क्लाइंट्स में साल-दर-साल 27% की मजबूत वृद्धि हुई है, जो वित्त वर्ष 24 में कुल 35,380 ग्राहकों तक पहुंच गई है।

हमारे मजबूत प्रदर्शन और शेयरधारक मूल्य के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को ध्यान में रखते हुए बोर्ड ने प्रति शेयर 1 रुपये का डिविडेंड घोषित किया है, जिससे वित्तीय वर्ष के लिए कुल डिविडेंड 9 रुपये प्रति शेयर हो गया है।  इसके अलावा, बोर्ड ने 1:5 के रेश्यो में स्टॉक स्प्लिट्स को भी मंजूरी दे दी है।

 इसी तरह आगे बढ़ते हुए, हम उत्कृष्टता हासिल करने, इनोवेशन को बढ़ावा देने और अपने सभी स्टेकहोल्डर्स को सस्टेनेबल वैल्यू प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। एक मजबूत नींव और एक स्पष्ट रणनीतिक दिशा के साथ, हम भविष्य के अवसरों को भुनाने और दीर्घकालिक विकास और सफलता प्राप्त करने के लिए अच्छी स्थिति में हैं।”

1995 से एक विश्वसनीय ब्रांड, शेयर इंडिया सिक्योरिटीज ने पिछले कुछ वर्षों में 149 से अधिक शाखाएँ और 32,886 ग्राहक बनाए हैं। एसआईएसएल एक टेक्नोलॉजी ड्रिवेन कस्टमर सेंट्रिक फाइनेंशियल ग्रुप है जो लो लैटेंसी ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म बनाने, एल्गो ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर/रणनीतियों को ऑटोमेट करने, कस्टमाइज्ड ब्रोकिंग सॉल्यूशन तैयार करने और ग्राहकों को बेहतर रिटर्न अर्जित करने में सक्षम बनाने पर केंद्रित है। पिछले कुछ वर्षों में इसने प्रोप्राइटरी टूल्स और कैपबिलिटी का उपयोग कर एक्सपर्ट रिसर्च कैपबिलिटीज़ का निर्माण किया है, जिनका उपयोग पहले केवल अल्ट्रा हाई नेट वर्थ इंडिविजुअल्स (यूएचएनआई) / हाई नेट वर्थ इंडिविजुअल्स (एचएनआई) द्वारा किया जाता था। एसआईएसएल ने अब इन सॉल्यूशन को भारत के बढ़ते रिटेल मार्केट में ले जाने और इंडिविजुअल इन्वेस्टर्स को “यूट्रेडीलगोस” के साथ “एल्गो-ट्रेडिंग” को सरल बनाने में सक्षम बनाने की तैयारी कर ली है।

एसआईएसएल का वर्तमान में नकदी बाजार, ईक्यू-डेरिवेटिव, करेंसी और कमोडिटी सहित सहित औसत दैनिक कारोबार 11,000 करोड़ रुपये है। एसआईएसएल को अपने इंस्टीट्यूशनल/यू-एचएनआई ग्राहकों के बीच फिनटेक ब्रोकर के रूप में मान्यता प्राप्त है। वित्तीय वर्ष 2021 में अपनी तकनीकी क्षमता को मजबूत करने के लिए इसने यूट्रेड सॉल्यूशन और एल्गोवायर टेक्नोलॉजीज का अधिग्रहण किया गया।  ये दोनों संस्थाएं आईआईटी/आईआईएम/आईएसबी और अन्य प्रतिष्ठित संस्थानों के पूर्व छात्रों द्वारा संचालित हैं। इन कंपनियों की कंबाइंड इंजीनियरिंग स्ट्रेंथ 120 से अधिक इंजीनियरों की है। साथ ही, एसआईएसएल ने हाल ही में एक अन्य टेक कंपनी – सिल्वरलीफ़ के अधिग्रहण के लिए एमओयू की घोषणा की है, जिसका नेतृत्व आईआईटी-बी के पूर्व छात्र करते हैं और जो एचएफटी में विशेषज्ञता रखती है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here