Home Travel आईएचसीएल व सीजी हॉस्पिटैलिटी में हुई साझेदारी; भारतीय उपमहाद्वीप में वन्यजीव व...

आईएचसीएल व सीजी हॉस्पिटैलिटी में हुई साझेदारी; भारतीय उपमहाद्वीप में वन्यजीव व साहसिक यात्रा अनुभवों को मिलेगा बढ़ावा

55
0
Google search engine

मुंबई/दिव्यराष्ट्र (पुरुषोत्तम शर्मा) : भारत की सबसे बड़ी आतिथ्य कंपनी इंडियन होटल्स कंपनी (आईएचसीएल) ने आज सीजी हॉस्पिटैलिटी के साथ रणनीतिक साझेदारी की घोषणा की, जिसके तहत 2025 तक 25 होटलों का पोर्टफोलियो का लक्ष्य हासिल करने के लिए टीएएल होटल्स एंड रिसॉर्ट्स लिमिटेड और ताज सफारी लिमिटेड के साथ अपने मौजूदा सहयोग का विस्तार किया जाएगा। ‘एकयम’ यह प्लेटफॉर्म मुख्य रूप से उन गंतव्यों (डेस्टिनेशन) में नए अवसरों की तलाश करेगा, जो भारतीय महासागर और ग्रेटर हिमालयी क्षेत्रों में साहसिक अनुभव और वाइल्ड लाइफ एस्केप को देखने का रोमांचक अवसर प्रदान करते हैं।

भारतीय उपमहाद्वीप और मध्य पूर्व में मौजूदा ऑपरेटिंग फुटप्रिंट्स (परिचालन पदचिह्न) में ताज एक्जोटिका रिसोर्ट एंड स्पा, ताज कोरल रीफ रिसॉर्ट एंड स्पेन मालदीव, ताज समुद्र, कोलंबो, श्रीलंका, ताज जुमेराह लेक्स टावर्स, दुबई और ताज सफारी, भारत और नेपाल में वन्यजीव लक्जरी लॉज शामिल है। पुनीत छतवाल, प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी, आईएचसीएल ने कहा,“आईएचसीएल का सीजी हॉस्पिटैलिटी के साथ लंबे समय से जुड़ाव है, जो दो दशकों से प्रसिद्ध सीजी कॉर्प ग्लोबल का ही एक सदस्य है। हमें यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि इस साझेदारी का अगला चरण भारतीय उपमहाद्वीप में त्वरित विकास को आगे बढ़ाएगा। प्लेटफॉर्म ‘एकयम’ के तहत यह सहयोग हिमालय के आसपास के क्षेत्रों के साथ-साथ भारतीय महासागर में होटलों के प्रबंधन के साथ ही नए अवसरों की खोज करेगा और वन्यजीव क्षेत्र को मजबूत करेगा।”

राहुल चौधरी, एमडी-सीजी हॉस्पिटैलिटी ने कहा,”यह प्लेटफॉर्म 11 ऑपरेटिंग होटलों के मौजूदा पोर्टफोलियो के साथ शुरू होगा। सीजी हॉस्पिटैलिटी ने अब तक परिचालन और आगामी होटलों में 1,250 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया है और इस साझेदारी के तहत 14 और होटलों को शामिल करने के लिए प्रतिबद्ध है।”

डॉ.बिनोद चौधरी, चेयरमैन-सीजीकॉर्प ग्लोबल ने कहा,”हमें टाटा समूह की आईएचसीएल के साथ सीजी हॉस्पिटैलिटी की 25 साल की इस साझेदारी पर गर्व है। यह विस्तार आईएचसीएल की सदियों पुरानी विरासत में हमारे भरोसे और विश्वास को रेखांकित करता है, जिसे वैश्विक स्तर पर भारतीय हॉस्पिटैलिटी में बेंचमार्क के रूप में मान्यता प्राप्त है।”

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here