Home बिजनेस ओंटारियो टीचर्स पेंशन प्लान से कोगटा फाइनेंशियल ने 1230 करोड़ रूपए का...

ओंटारियो टीचर्स पेंशन प्लान से कोगटा फाइनेंशियल ने 1230 करोड़ रूपए का सीरीज ई निवेश जुटाया

45
0
Google search engine

दिव्यराष्ट्र, मुंबई: कोगटा फाइनेंशियल (इंडिया) लिमिटेड (“कोगटा” या ” द कंपनी”) ने घोषणा की है कि ओंटारियो टीचर्स पेंशन प्लान बोर्ड (“ओंटारियो टीचर्स”) ने 1230 करोड़ रुपये (148 मिलियन अमेरिकी डॉलर) का निवेश कर कंपनी में एक महत्वपूर्ण माइनॉरिटी स्टेक (अल्पमत हिस्सेदारी) हासिल कर ली है। कोगटा फाइनेंशियल (इंडिया) एक तेजी से बढ़ती रिटेल फोकस्ड एनबीएफसी है, जो सिक्‍योर्ड व्‍हीकल और एमएसएमई फाइनेंसिंग सेक्टर में विशेषज्ञता रखती है। कोगटा के पास क्रिएटर IV एलपी (“क्रेडोर”), मॉर्गन स्टेनली प्राइवेट इक्विटी एशिया (“मॉर्गन स्टेनली”) और मल्टीपल्स अल्टरनेट एसेट्स प्राइवेट लिमिटेड (“मल्टीपल्स”) द्वारा मैनेज किए गए फंड से मौजूदा निवेश के साथ इंस्टीट्यूशनल बैंकिंग (संस्थागत समर्थन) का एक मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड है।

जुटाए गए इस फंड का उपयोग कंपनी अपने उत्पाद की पेशकश में ग्रोथ को बढ़ावा देने और क्षेत्रीय उपस्थिति (रीजनल प्रेजेंस) का विस्तार करने के लिए प्राइमरी कैपिटल यानी प्राथमिक पूंजी के रूप में किया जाएगा और यह कोगटा के मौजूदा संस्थागत निवेशकों मॉर्गन स्टेनली और क्रिएटर को आंशिक निकासी (पार्शियल एग्जिट) भी प्रदान करेगा।

कोगटा ऐसे बड़े बाजारों पर फोकस करता है, जहां व्हीकल फाइनेंस और एमएसएमई लोन की सुविधा बहुत कम । 1996 में राजस्थान में शुरू हुआ, कोगटा अब 225 से अधिक शाखाओं और 5000 से अधिक कर्मचारियों के साथ भारत के 10 राज्यों में अपना विस्तार कर चुका है। कंपनी के पास कमर्शियल वाहनों, यात्री वाहनों, ट्रैक्टर, निर्माण उपकरण और एमएसएमई लोन में 4800 करोड़ रुपये का एसेट अंडर मैनेजमेंट है।

अक्टूबर 2016 में अपने पहले संस्थागत निवेश के बाद से, कोगटा ने बहुत मजबूत एसेट क्वालिटी के साथ 40 फीसदी से अधिक सीएजीआर पर एयूएम ग्रोथ के साथ तेजी से प्रगति की है, जिसका नेतृत्व मजबूत ऑन-ग्राउंड ऑपरेटिंग अनुभव और बाजार की गहराई से जानकारी वाले संस्थापकों ने किया है। इस दौरान कंपनी ने अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए अनुभवी पेशेवरों को शामिल किया है, जो “फ्रीडम टु ग्रो” और योग्‍यता के आधार पर संचालन वाले सिस्टम के ट्रेंड से समर्थित हैं।

निवेश के हिस्से के रूप में, राहुल मुकीम – डायरेक्टर, प्राइवेट कैपिटल, इंडिया को ओंटारियो टीचर्स पेंशन प्‍लान के नॉमिनी के रूप में कोगटा के बोर्ड में शामिल होने की उम्मीद है।

कोटक इन्वेस्टमेंट बैंकिंग लेनदेन के लिए वित्तीय सलाहकार था।

इस अवसर पर कोगटा के एमडी और सीईओ अरुण कोगटा ने कहा कि यह कंपनी के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है, और हम ओन्टारियो टीचर्स का स्वागत करते हैं। उनका अनुभव कोगटा को अपनी विकास यात्रा के अगले चरण में आगे बढ़ने में मदद करेगा, जिससे चुने हुए भौगोलिक क्षेत्रों और प्रोडक्‍ट सेगमेंट यानी उत्पाद खंड में इसकी पहुंच गहरी होगी। हमारा मानना है कि ओन्टारियो टीचर्स द्वारा किया गया निवेश कई साल से निर्मित अंडरलाइंग बिजनेस मॉडल के लिए भरोसे की मुहर है।

कोगटा के ईडी और सीएफओ, वरुण कोगटा ने कहा कि ओंटारियो टीचर्स के निवेश से हमारी बैलेंस शीट की ताकत बढ़ाने और कंपनी में क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों और लेंडर्स का भरोसा बढ़ाने में मदद मिलेगी। हम अपने मौजूदा निवेशकों (क्रेडोर, मॉर्गन स्टेनली, मल्टीपल्स और सीपीपी इन्वेस्टमेंट्स) के इनपुट की भी सराहना करना चाहेंगे और आने वाले साल में उनके निरंतर समर्थन की आशा करेंगे।

ओंटारियो टीचर्स के सीनियर मैनेजिंग डायरेक्टर और हेड ऑफ इंडिया दीपक दारा ने कहा कि कोगटा में हमारा निवेश भारत के जीवंत फाइनेंशियल सर्विसेज सेक्टर में हाई ग्रोथ के अवसरों की पहचान करने और समर्थन करने की हमारी प्रतिबद्धता को दिखाता है। सेकंड हैंड व्हीकल और आजीविका के लिए फाइनेंसिंग सेगमेंट में काफी कम पहुंच है। अरुण और वरुण ने एसेट क्वालिटी यानी संपत्ति की गुणवत्ता, डीप टेक्‍नोलॉजी ओरिएंटेशन और टैलेंट यानी प्रतिभा पर मजबूत ध्यान देने के साथ एक स्केलेबल बिजनेस मॉडल बनाया है। हम उनके विकास के रास्ते को और तेज करने के लिए उनके साथ साझेदारी करने को लेकर उत्साहित हैं।

ओंटारियो टीचर्स के लिए सीनियर मैनेजिंग डायरेक्टर, प्राइवेट कैपिटल, एशिया-प्रशांत, सिंडी यान ने कहा कि फाइनेंशियल सर्विसेज और नॉन-बैंकिंग लेंडिंग फाइनेंशियल सर्विसेज अभी ग्लोबल स्तर पर फोकस एरिया हैं, जहां हमारे पास महत्वपूर्ण विशेषज्ञता है। हम भारत में वंचित वाहन और एमएसएमई सेक्टर को फाइनेंसिंग के समाधान प्रदान करने के मिशन में कोगटा फाइनेंशियल का समर्थन करने को लेकर उत्साहित हैं। यह निवेश स्पष्ट प्रतिस्पर्धी लाभ के साथ हाई ग्रोथ वाले बिजनेस में मजबूत प्रबंधन टीमों का समर्थन करने की हमारी रणनीति के अनुरूप है।

मॉर्गन स्टेनली पीई एशिया के मैनेजिंग डायरेक्टर और को-हेड अर्जुन सहगल ने कहा कि हम कोगटा में शुरुआती निवेशकों में से रहे हैं और हमने व्हीकल फाइनेंस सेक्टर में अग्रणी लेंडर्स में से एक के रूप में कंपनी के विकास को देखा है। ओटीपीपी को जोड़ने से कैप टेबल और मजबूत होती है और यह कोगटा के संचालन में निवेशकों के विश्वास को दिखाता है। हालांकि हम वर्तमान दौर में आंशिक रूप से अपनी हिस्सेदारी से बाहर निकल रहे हैं, हम शेयरधारक बने रहेंगे और विकास के अगले चरण में कोगटा के साथ अपनी सफल साझेदारी जारी रखने के लिए तत्पर हैं।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here