Home बिजनेस हाफले ने सचिन तेंदुलकर को बनाया ब्रांड एंबेसडर

हाफले ने सचिन तेंदुलकर को बनाया ब्रांड एंबेसडर

81
0
Google search engine

नई दिल्ली: 100 साल से अधिक की अंतरराष्ट्रीय विरासत के साथ इंटीरियर सॉल्यूशंस सेगमेंट में एक ग्लोबल लीडर हाफले ने अपनी भारतीय सहायक कम्पनी के ब्राण्ड एम्बेसडर के रूप में क्रिकेट के दिग्गज सचिन तेंदुलकर के साथ साझेदारी की घोषणा की है। यह साझेदारी दो विरासतों के एक साथ आने का प्रतीक है, जो अपनी सटीकता, गुणवत्ता और मूल्यों के प्रति प्रतिबद्धता के लिए जानी जाती हैं।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ‘क्रिकेट के भगवान‘ के रूप में सम्मानित और 20 वर्ष के कैरियर में अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए दुनिया भर में पहचाने जाने वाले, श्री तेंदुलकर – उत्कृष्टता, अखण्डता और पूर्णता के लिए निरंतर प्रयास का प्रतीक हैं और उनके यही मूल्य जो हाफले के साथ गहराई से मेल खाते हैं।

एक ब्राण्ड एम्बेसडर के रूप में, सचिन ब्राण्ड के उद्देश्य को बढ़ाने, मैक्सिमाइजिंग द वैल्यू ऑफ़ स्पेस हाफले के साथ मिलकर सहयोग करेंगे। ग्राहकों को हाफले के अत्याधुनिक इंटीरियर समाधानों के साथ अपने स्थान का उच्चत्तम मूल्य के लिये प्रेरित करेंगे।

श्री सचिन का स्वागत करते हुए हाफले दक्षिण एशिया के प्रबन्ध निदेशक श्री फ्रैंक श्लोएडर ने कहा ‘‘हमारा मानना है कि हमारे ब्राण्ड के लिए सचिन बिल्कुल उपयुक्त हैं, खासकर खाना पकाने और अपनी रसोई में व्यंजन तैयार करने के उनके जुनून को देखते हुए। हमारे समकालीन आंतरिक समाधानों को सबसे आगे लाने और उनकी कुशल कार्यक्षमता, अत्याधुनिक तकनीक और प्रेणात्मक सौंदर्य को उजागर करने के लिए उनसे बेहतर कौन हो सकता है। उन्होने आगे कहा, इसके अलावा, उनकी दृढ़ता और विस्तार पर ध्यान हमारे ब्राण्ड वेल्यू के साथ पूरी तरह से मेल खाता है। सचिन के साथ हम प्रेरणा और नवीनता की इस यात्रा को शुरू करने के लिए उत्सुक हैं, जिससे लोगों के मैक्सिमाइजिंग द वैल्यू ऑफ़ स्पेस में क्रांतिकारी बदलाव आएगा ।‘‘

क्रिकेट जगत के सितारे सचिन तेंदुलकर ने अपना उत्साह जाहिर करते हुए कहा, ‘‘मैं हाफले के साथ साझेदारी करके बहुत खुश हूं। हमने यह यात्रा इसलिए शुरू की, क्योंकि हमें लगा कि हमारी टीमों के बीच बहुत बढ़िया तालमेल है। मुझे भोजन और खाना पकाने का शौक है, और एक अच्छी रसोई ही हर परिवार को स्वादिष्ट खुशियाँ प्रदान करती है। उन्होंने अपनी बात जारी रखते हुए कहा युवा भारतीय अपने हर काम में सर्वश्रेष्ठ बनने की आकांक्षा रखते हैं, इसलिए वे ऐसे समाधान तलाशते हैं जो अग्रणी (अत्याधुनिक) हों। हाफले के डिज़ाइन सेंटर का दौरा करते समय, मैंने इसे क्रियान्वित होते देखा। मैक्सिमाइजिंग द वैल्यू ऑफ़ स्पेस की अवधारणा मेरे लिए सबसे खास रही। मैं इस के लिए तत्पर हूं और एसआरटी स्पोर्ट्स मैनेजमेंट (एसआरटीएसएम) और हाफले की टीमों को शुभकामनाएं देता हूं क्योंकि हम अपने संयुक्त उद्देश्यों पर मिलकर काम करना जारी रखेंगे।‘‘

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here