Home बिजनेस अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर बनाये पांच गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर बनाये पांच गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड

53
0
Google search engine

दिव्यराष्ट्र, जयपुर: अक्षर योग केंद्र ने अपने संस्थापक और पूज्य हिमालयन सिद्ध योगी अक्षर के दूरदर्शी नेतृत्व में इस अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर शुक्रवार को पांच नए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाकर इतिहास रच दिया। हजारों योग साधकों और समाज के विभिन्न क्षेत्रों के उत्साही लोगों ने बेंगलुरु स्थित अक्षर योग केंद्र में आयोजित योग कार्यक्रम में विश्व रिकॉर्ड बनाने के लिए नौकासन (बोटपोज), कौंडिन्यासन (सागाकौंडिन्यआसन), चक्रासन (व्हीलपोश्चर), नटराजासन (लॉडशिवापोज) और सूर्य नमस्कार (सनसैल्यूटेशन) सहित कुल सात योगासनों में प्रतिभाग किया। इन पांच आसनों (नौकासन, कौंडिन्यासन, चक्रासन, नटराजासन और सूर्य नमस्कार) में गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बना। शेष दो आसनों में पॉजिटिव रेस्पांस है और रिजल्ट का इंतजार है। इस कार्यक्रम में भारतीय सेना, एनसीसी, वायुसेना, कर्नाटक राज्य पुलिस के सदस्यों के साथ-साथ दिव्यांगों, अनाथालयों के बच्चों, व्यवसाय और कॉरपोरेट समुदाय के सदस्यों सहित 3000 से अधिक लोगों ने भाग लिया।

इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर हिमालयन सिद्ध योगी अक्षर ने कहा, ‘आसन और तकनीक के अलावा, योग व्यक्ति के बेहतर मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की समग्र अवधारणा है। हमारा निरंतर प्रयास रहा है कि योग की प्राचीन प्रथा को नए शिखर पर ले जाएं और दुनियाभर में इसे घर-घर में लोकप्रिय कर देंता कि यह लोगों की दिनचर्या में शामिल हो जाए। योग दिवस के अवसर पर 20 देशों के लोगों की भागीदारी के साथ पांच नए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाना योग की अद्वितीय शक्ति का सम्मान है। यहां जो आसन किए गए, वे सभी के लिए बहुत लाभकारी हैं, खास कर महिलाओं के लिए, जो रोजमर्रा की जिंदगी में कई चुनौतियों का सामना करती हैं।’

उन्होंने आगे कहा कि इस आयोजन का उद्देश्य योग के बहुमुखी लाभों के बारे में जागरुकता बढ़ाते हुए वैश्विक एकता और सामूहिक उपलब्धि की भावना को बढ़ावा देना है। गिनीज रिकॉर्ड की आधिकारिक घोषणा के बाद, संचार मंत्रालय के तहत आने वाले डाक विभाग द्वारा एक विशेष कवर और पोस्टमार्क जारी करके इन गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स की उपलब्धि का जश्न मनाया जाएगा। हफ्तों तक व्यापक प्रशिक्षण के बाद, प्रतिभागियों ने इस योग कार्यक्रम में 30 सेकेंड से लेकर 5 मिनट तक की अवधि वाले ये आसन किए। नौकासन (बोटपोज), कौंडिन्यासन (सागाकौंडिन्यआसन), चक्रासन (व्हीलपोश्चर), नटराजन (लॉर्डशिवापोज) एवंसूर्यनमस्कार (सनसैल्यूटेशन) में क्रमश: 382, 352, 390, 595 एवं 1372 लोगों ने प्रतिभाग किया।

यह सफल आयोजन योग के प्रति अक्षर योग केंद्र की प्रतिबद्धता का प्रमाण है, जिसमें दुनिया भर से प्रभावी प्रशिक्षण और उत्साही भागीदारी शामिल है। इस 10वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में ऐतिहासिक रिकॉर्ड बनाने के अलावा, अक्षर योग केंद्र ने योग की परिवर्तनकारी शक्ति को प्रदर्शित करने के लिए डिजाइन की गई गतिविधियों की एक श्रृंखला आयोजित की।

गौरतलब है कि अक्षर योग केंद्र ने पिछले साल तीन अलग-अलग योगासनों वशिष्ठासन, उष्ट्रासन और हलासन को क्रमश: 45 सेकेंड, 60 सेकेंड और 90 सेकेंड की अवधि के लिए करने के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया था।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here