Home न्यूज़ Social बच्चों ने 1100 किलो सब्जियों से कराई गौ सवामणि

बच्चों ने 1100 किलो सब्जियों से कराई गौ सवामणि

63
0
Google search engine

जयपुर, दिव्यराष्ट्र/ रवि फाउंडेशन की पहल पर भारतीय संस्कारों से बच्चों का जुड़ाव कराने के लिए अनूठे तरीके से मदर्स डे मनाया गया। गोसेवक बच्चों ने जहां पहली बार अपनी पॉकेटमनी से खोले के हनुमान जी मंदिर की श्री राम गौशाला में 200 से अधिक गो माताओं को गर्मी से राहत दिलाने के लिए 1100 किलो सब्जी, फल, हरा चारा और जौ की गुल्ली की राबड़ी से सवामणि कराई। उत्सुकता से भरे सैंकड़ों नन्हे मुन्ने गौसेवकों की टोली ने अपने बड़े इरादों और छोटे-छोटे हाथों से गौवंश को सब्जियां और फल खिलाए। यही नहीं इन बच्चों ने भाग भाग कर गो माता के खाने लिए फल सब्जियों को सजाया भी।

वहीं, अपनी जन्म देने वाली जननी मां का माता वैष्णो देवी देवी के समक्ष मां का पूजन भी किया। पूजन कर उन्हें चुन्नियां उड़ाई। इस मौके पर बच्चों ने हमेशा गो मां और माता पिता की सेवा करने का संकल्प भी किया। फाउंडेशन के अध्यक्ष पुलकित भारद्वाज ने बताया कि गो सवामणि का यह आयोजन बच्चों ने जयपुर, अजमेर, दिल्ली, कोटा, अलवर, गंगापुर सिटी सहित इंडोनेशिया व अन्य देशों में भी किया गया।

ये बच्चे भी हुए सवामणि में शामिल :
बेबी नव्या, मास्टर गर्वित, वामाक्षी के साथ ही मास्टर युवान, श्रीका, किनिषा, यशवनी, मनस्वी, तनविशा, निशांत, नमन और देवांशु सहित सैकड़ों बच्चे अपनी मां के साथ गो माता की सवामणि कराने पहुंचे। इस मौके पर झामन-करुणा टेकचंदानी, अमोल-सीमा झालानी, तनवी टेकचंदानी, राजेश-आकांक्षा, चंद्रमोहन-गीता झालानी सहित फाउंडेशन के अन्य पदाधिकारी व गणमान्य लोग मौजूद रहे।

इतने फल सब्जियों हुई गायों की सवामणि ,300 किलो लोकी ,400 किलो कद्दू ,200 किलो टिंडे ,100 किलो भिंडी,100 किलो तरबूज, खरबूजा।

सुबह से रात तक बच्चों के साथ निशुल्क दर्शनों के लिए पहुंची मांए—
रवि फाउंडेशन के इस अनूठे मदर्स डे के आयोजन में बच्चे ही नहीं मांओं में भी खासी उत्सुकता देखने को मिली। सुबह से लेकर देर रात तक माताएं अपने बच्चों के साथ माता वैष्णो देवी के निशुल्क दर्शनों को पहुंची। पहले उन्होंने गो माता को सवामणि कराई। माता वैष्णो देवी मंदिर तक पहुंचने को रवि फाउंडेशन ने इन माताओं के लिए रोप वे की निशुल्क व्यवस्था कराई। सुबह से रात 10 बजे तक 1000 से अधिक माताओं ने मां वैष्णो देवी के निशुल्क दर्शन किए।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here