Home बिजनेस ‘शोटाइम’ सीरीज के सभी एपिसोड्स 12 जुलाई, 2024 से स्‍ट्रीम होंगे

‘शोटाइम’ सीरीज के सभी एपिसोड्स 12 जुलाई, 2024 से स्‍ट्रीम होंगे

31
0
Google search engine

दिव्यराष्ट्र, मुंबई: बॉलीवुड की चकाचौंध से भरी दुनिया में खो जाने के लिए तैयार हो जाइये, क्‍योंकि डिज्‍़नी+ हॉटस्‍टार और धर्मेटिक एंटरटेनमेन्‍ट  ने शोटाइम  का बहुप्रतीक्षित ट्रेलर रिलीज कर दिया है। इस सीरीज में फिल्‍म इंडस्‍ट्री के कई पहलू समेटे गये हैं। इनमें शानदार स्‍टारडम से लेकर खुद की असलियत को समझने और प्रोड्यूसर्स के झगड़ों से लेकर नाम कमाने के लिये कठिन संघर्ष तक सब-कुछ दिखाया गया है। किसी सितारे को वाकई परिभाषित करने वाली उसकी मजबूती तथा शानदार वापसी के पीछे छुपी विफलताओं का नजारा हमें रघु खन्‍ना की जिन्‍दगी में मिलता है। वह लौट आया है और शोबिज़ की दुनिया पर हावी होना चाहता है। ‘शोटाइम’ के सारे एपिसोड्स 12 जुलाई से सिर्फ डिज्‍़नी+ हॉटस्‍टार पर स्‍ट्रीम होंगे। इस सीरीज में इमरान हाशमीमहिमा मकवाना के साथ-साथ मौनी रॉयराजीव खण्‍डेलवाल, श्रिया सरनविशाल वशिष्‍ठनीरज माधव और विजय राज  की महत्‍वपूर्ण भूमिकाएं हैं।

इस सीरीज के रचनाकर हैं सुमित रॉय। शोरनर मिहिर देसाई  और अर्चित कुमार ने इसका निर्देशन किया है। स्‍क्रीनप्‍ले सुमित रॉयमिथुन गंगोपाध्‍याय और लारा चांदनी ने लिखा हैजबकि संवाद जेहान हांडा और करण श्रीकांत शर्मा ने लिखे हैं।

शोरनर एवं निर्देशक मिहिर देसाई ने कहा‘इस बार ‘शोटाइम’ में, हम प्रत्येक चरित्र की व्यक्तिगत यात्राओं का पता लगाते हैं, उनकी आंतरिक दुनिया में गहराई से उतरते हैं। इमरान हाशमी का अकेला भेड़िया रघु खन्ना का किरदार दर्शकों को सतह के नीचे के जटिल व्यक्तित्व की एक झलक देता है। श्रृंखला परिस्थितियों के मनोरम बवंडर में उलझे पात्रों का अनुसरण करती है। जो शुरुआत में बॉलीवुड की बड़ी बुरी दुनिया का महज एक पर्दाफाश जैसा लगता है, वह लालच, महत्वाकांक्षा और लचीलेपन की नाटकीय और भावनात्मक कहानियों में बदल जाता है।

इमरान हाशमी ने कहा‘‘काम करने की किसी भी दूसरी जगह की तरह इंडस्‍ट्री में भी उतार-चढ़ाव आते रहते हैं।लेकिन जब आप असलियतों को समझ जाते हैं, तभी टिके रह पाते हैं। रघु खन्‍ना एक तरह से करण जौहर है, क्‍योंकि हर चुनौ‍ती से निपटने के लिये रघु का जुनून मुझे हमेशा करण की याद दिलाता है। कभी-कभी मैं सोचता हूँ कि अगर इंडस्‍ट्री में रघु खन्‍ना जैसे प्रोड्यूसर होते, तो वह कैसी होतीᣛ? इतने सालों के अपने कॅरियर में मैंने रघु जैसा कोई प्रोड्यूसर नहीं देखा, जो बॉलीवुड के जहर से उभर सका हो। आज के प्रोड्यूसर कलाकारों की चमक-दमक पर काम करते हैं, लेकिन रघु इसके ठीक उलट है। सबसे बड़ा स्‍टूडियो, यानि अपना‘विक्‍टोरी स्‍टूडियोज’किसी बाहरी के कारण खो देने और अपने प्‍यार यास्मिन (मौनी रॉय) के साथ कड़वाहट के बावजूद रघु की कहानी खत्‍म नहीं होती है। वह फर्श से अर्श पर पहुँचेगा और अपना हक लेकर रहेगा।’’

मौनी रॉय ने कहा‘‘यास्मिन की कहानी एक मजबूत आईना है, जिसमें दिखता है कि इस बिजनेस में उन कई एक्‍ट्रेसेस के साथ क्‍या होता है, जो अपने लिये खड़ी होती हैं। प्रशंसकों और इंडस्‍ट्री की ट्रोलिंग को तो भूल ही जाइये। यह ट्रोलिंग नहीं तय करती है कि हम कौन हैं, क्‍योंकि हम एक्‍टर्स तो दर्शकों का प्‍यार पाने के लिये जीते हैं और इसीलिये नकारात्‍मक बातें हम पर असर डालती हैं। सीरीज में यास्मिन लगातार खुद से लड़ती है और मजबूत होकर लौटने की कोशिश करती है। आप यास्मिन और रघु खन्‍ना के बीच एक नया रिश्‍ता भी देखेंगे। मुझे स्‍क्रीन पर यास्मिन का किरदार निभाना अच्‍छा लगा और मैं उम्‍मीद करती हूँ कि दर्शक ‘शोटाइम’के सारे एपिसोड्स का मजा लेंगे।’’

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here