Home समाज तरुण भारत संघ के 50 वें स्वर्णिम वर्ष का शुभारंभ

तरुण भारत संघ के 50 वें स्वर्णिम वर्ष का शुभारंभ

51
0
Google search engine

थानागाजी, दिव्यराष्ट्र/ उपखंड के भीकमपुर ग्राम में तीन दिवसीय नदी पुनर्जीवन प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें जल पुरुष डॉ. राजेंद्र सिंह द्वारा लिखित नालंदा प्रकाशन द्वारा प्रकाशित पुस्तक पुनर्जीवित नदी नहरों का विमोचन किया गया। इस अवसर पर देश-विदेश से 150 से अधिक लोगों ने भाग लिया तरुण भारत संघ के अध्यक्ष जल पुरुष राजेंद्र सिंह ने बताया कि पानी से हमारे जीवन में समृद्धि और स्वास्थ्य अच्छा रहेगा हरियाली हमें समृद्ध बनाएगी। तरुण भारत संघ ने जल जंगल जमीन के मुद्दे पर काम करते हुए 50वे वर्ष में प्रवेश किया है। ऐसे ही निरंतर अनुकूलन उन्मूलन रूप में कार्य किए हैं। पदमश्री लक्ष्मण सिंह ने तरुण भारत संघ के पुराने कामों को याद किया।

परमार्थ संस्थान के संजय सिंह ने कहा कि जल के लिए काम करना इस पृथ्वी का सबसे शुभ कार्य है। तरुण भारत संघ के निदेशक मौलिक सिसोदिया ने कहा कि जल से ही सामुदायिक समृद्धि बनती है जल का कार्य ही प्रकृति के समृद्धि का रास्ता है। अरविंद म्हात्रे ने कहा कि जल पुरुष के प्रयास से महाराष्ट्र में 108 नदियों पर काम चल रहा है। उपाध्यक्ष डॉ .इंदिरा खुराना ने कहा कि इस संघ द्वारा जलवायु परिवर्तन अनुकूलन उन्मूलन का कार्य करवा रहे हैं। बाढ़ सुखाड़ आयोग के सदस्य नेहपाल सिंह ने बताया कि तरुण भारत संघ द्वारा पर्यावरण व जल संरक्षण पर कार्य किया जा रहा है तथा नदियों को जगह-जगह पुनर्जीवित किया जा रहा है।

इस अवसर पर बग्घारा के जयश जोशी, गांधी विचारक रमेश शर्मा, पत्रकार अनिल शर्मा, नीलम गुप्ता, चमन सिंह, रणवीर सिंह छोटेलाल मीणा, राहुल सिसोदिया, सरोज सैनी, पारस प्रताप सिंह, पूजा भाटी, प्रोफेसर चंद्र अप्पा प्रोफेसर सुनंदा , प्रो. स्वर्ण,दीप सिंह, मनीष राजपूत, गोपाल सिंह आदि ने अपने विचार व्यक्त किया।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here