Home एजुकेशन अभातशिप के अध्यक्ष ने किया इनोवेशन, डिजाइन और उद्यमिता बूटकैंप के तीसरे...

अभातशिप के अध्यक्ष ने किया इनोवेशन, डिजाइन और उद्यमिता बूटकैंप के तीसरे चरण का उद्घाटन

92
0
Google search engine

नई दिल्ली, दिव्यराष्ट्र/
अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् (अभातशिप) के अध्यक्ष प्रो. टी.जी. सीताराम ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर से लेकर केरल तक देश के 9 अलग-अलग स्थानों पर इनोवेशन, डिजाइन और उद्यमिता (आईडीई) बूटकैंप के तीसरे चरण का वर्चुअल उद्घाटन किया। यह बूटकैंप शिक्षा मंत्रालय के नवाचार प्रकोष्ठ और अभातशिप की एक पहल है, जिसका उद्देश्य स्टूडेंट इनोवेटर्स के इनोवेशन, डिजाइन और उद्यमिता कौशल को बढ़ावा देना है। यह 5 दिवसीय बूटकैंप 29 अप्रैल से 3 मई, 2024 तक चलेगा। इस दौरान अभातशिप के अध्यक्ष प्रो. टी.जी. सीताराम ने कहा कि यह बूटकैंप हमारे युवाओं के लिए आशा की किरण है, जो कि उनकी सफलता का मार्ग प्रशस्त करेगा। विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों के 2500 से अधिक स्टूडेंट इनोवेटर्स और इनोवेशन एंबेसेडर्स इसमें भाग ले रहे हैं। इस बूटकैंप में हमें प्रतिभा और दृढ़ संकल्प का अद्वितीय संगम देखने को मिलेगा।

यह बूटकैंप “वाधवानी फाउंडेशन” के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है। इसमें प्रतिभागियों को आज के गतिशील व्यावसायिक परिदृश्य में सफल होने के लिए उत्पाद डिजाइन, एर्गोनॉमिक्स डिजाइन थिंकिंग और पिचिंग कौशल में प्रशिक्षित किया जाएगा। इसमें सीखने के व्यावहारिक और अनुभवात्मक तरीके पर जोर दिया जाएगा। इसके अलावा विभिन्न स्टार्टअप संस्थापकों के साथ प्रेरक चर्चा भी होगी जिसमें विशेष रूप से स्मार्ट इंडिया हैकथॉन के पूर्व छात्र प्रतिभागियों द्वारा जम्मू एवं कश्मीर और लद्दाख के छात्रों को उद्यमी करियर के लिए प्रेरित किया जाएगा।

पहले दिन प्रतिभागी प्रदर्शनी में अपने नवाचार का प्रदर्शन करेंगे और चौथे दिन नेटवर्किंग, उद्यमशीलता का कौशल विकसित करने के लिए स्थानीय दौरा करेंगे। अंतिम दिन प्रतिभागी विशेषज्ञ पैनल के सामने अपने नवाचार प्रस्तुत करेंगे। इस पैनल में स्टार्टअप संस्थापक, इनक्यूबेटर, बौद्धिक संपदा विशेषज्ञ, एंजेल निवेशक, कुलपति और नॉलेज एजेंसियों के विशेषज्ञ शामिल रहेंगे। इस चरण में कुछ प्रसिद्ध वक्ता और डिजाइन विशेषज्ञ भी इन 9 स्थानों पर प्रशिक्षण सत्र देंगे। गौरतलब है कि पहले और दूसरे चरण में कुल 16 बूटकैंप आयोजित किए गए जिसमें 4000 से अधिक छात्र और संकायों ने भाग लिया।

ये हैं होस्ट इंस्टीट्यूट/नोडल सेंटर
1. महाराजा अग्रसेन यूनिवर्सिटी बद्दी, हिमाचल प्रदेश
2. एमिटी यूनिवर्सिटी, रायपुर
3. बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, वाराणसी
4. श्री नारायण गुरुकुलम कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, एर्नाकुलम
5. केएलई टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, हुबली
6. कलसालिंगम एकेडमी ऑफ रिसर्च एंड एजुकेशन, श्रीविल्लीपुथुर
7. ग्राफिक एरा डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी, देहरादून
8. एसएसएम कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, जम्मू-कश्मीर
9. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, गोवा

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here