Home ताजा खबर वन विभाग की समीक्षा बैठक आयोजित

वन विभाग की समीक्षा बैठक आयोजित

48
0
Google search engine

इस वर्ष 70000 हेक्टेयर क्षेत्र पर पौधरोपण के साथ TOFIR के तहत 4 करोड़ पौधों का किया जायेगा वितरण : अतिरिक्त मुख्य सचिव, वन विभाग

जयपुर, दिव्यराष्ट्र/। वन विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव अपर्णा अरोड़ा ने कहा कि वन्यजीव संरक्षण के साथ राज्य को हरा भरा बनाने के लिए विभाग संकल्पित होकर कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि वन विभाग की विभिन्न योजनाओं के माध्यम से आमजन को वन्यजीव संरक्षण एवं पौधरोपण के लिए जागरूक किये जाने की आवश्यकता है ताकि राज्य को हरा भरा प्रदेश बनाने का संकल्प साकार हो सके।

अतिरिक्त मुख्य सचिव बुधवार को यहाँ अरण्य भवन में राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रही थी। इस अवसर पर उन्होंने विभाग द्वारा संचालित की जा रही विभिन्न योजनाओं की प्रगति समीक्षा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने विभाग द्वारा जिला स्तर पर किये जा रहे कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि अधिकारी वन्यजीव एवं वन संरक्षण एवं संवर्धन के लिए पूर्णतया संकल्पित होकर कार्य करें।

अवैध अतिक्रमण एवं अवैध खनन पर पूर्णतया लगे रोक—

बैठक के दौरान अपर्णा अरोड़ा ने अवैध खनन एवं अवैध अतिक्रमण पर पूर्णतया रोक लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन एवं अन्य सम्बंधित विभागों के साथ समन्व स्थापित कर अवैध खनन एवं अतिक्रमण पर रोक लगाना सुनिश्चित किया जाये। इस सम्बन्ध में उन्होंने मौजूद जिला स्तरीय अधिकारीयों से वर्तमान परिस्तिथियों की समीक्षा पर आ रही बाधाओं एवं समाधानों पर विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण मुक्त जमीन पर ग्रासलैंड रिकवरी का कार्य प्राथमिकता से किया जाये ताकि जमीन अपने मूल स्वरूप में वापस आ सके।

– 70 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में होगा पौधरोपण —

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बैठक के दौरान विभाग की प्रमुख योजना TOFIR (ट्री आउटसाइड फॉरेस्ट इन राजस्थान) की प्रगति समीक्षा की. इस दौरान उन्होंने कहा कि इस वित्तीय वर्ष में 70 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में पौधरोपण किया जाना है, वही योजना के तहत 4 करोड़ पौधों का वितरण आमजन , एनजीओ, अन्य सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थाओं को वितरित किये जायेंगे वही कुल 552 नर्सरी में पौधरोपण का कार्य किया जा रहा है, जिसके तहत उत्कृष्ट, स्थानीय एवं छांयादार पौधे तैयार करने पर विशेष ध्यान दिया जाये। इस दौरान उन्होंने कहा कि राज्य में राष्ट्रिय एवं राज स्तरीय राजमार्गों पर भी पौधरोपण का कार्य किया जाना सुनिश्चित किया जाये।

बैठक के दौरान वन विभाग की जमीनों के सीमांकन कार्य सहित अन्य कार्यों पर भी विस्तार से चर्चा की गयी।

इस दौरान प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं हेड ऑफ फॉरेस्ट फोर्स मुनीश गर्ग, सभी अन्य प्रधान मुख्य वन संरक्षक, सभी क्षेत्रीय मुख्य वन संरक्षक एवं उप वन संरक्षक उपस्थित रहे।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here