Home बिजनेस जयपुर में हुई एयू उद्योगिनी बाजार की शुरुआत

जयपुर में हुई एयू उद्योगिनी बाजार की शुरुआत

60
0
Google search engine

जयपुर:भारत के लीडिंग एसएफबी, एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक (एयू एसएफबी)  ने आज जयपुर के नवरंगपुरा में एयू उद्योगिनी बाजार का उद्घाटन  किया। इसका उद्देश्य सामाजिक और आर्थिक रूप से पीछड़े वर्ग की ग्रामीण महिला उद्यमियों को उनके व्यवसाय के लिए एक समर्पित स्थान प्रदान करके उनका विकास करना है, साथ ही महिला स्वामित्व वाले व्यवसायों को बढ़ावा देना भी है। यह पहल एयू उद्योगिनी का हिस्सा है  जो एयू फाउंडेशन – एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक की सीएसआर विंग का एक रणनीतिक कार्यक्रम है।

एयू उद्योगिनी बाजार पिछड़े और वंचित वर्ग की महिला उद्यमियों के लिए एक मंच है, जिन्हें एक व्यवस्थित प्रक्रिया के माध्यम से सावधानीपूर्वक चुना गया है। इस पहल के अंतर्गत एयू फाउंडेशन इन महिलाओं को नेतृत्व और उद्यमिता में प्रशिक्षण के साथ-साथ व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए समर्थन देगा। एयू फाउंडेशन उनकी मार्केटिंग, मैनेजेरियल (प्रबंधकीय) और तकनीकी क्षमताओं को बढ़ाने में भी मदद करेगा।

एयू उद्योगिनी बाजार एक-व्यवसाय-एक-दुकान मॉडल का अनुसरण करता है, जिसमें 10X12 फीट की 9 इकाइयां शामिल हैं जो हर एक व्यवसाय को चलाने के लिए आवश्यक बुनियादी ढांचे और उपकरणों से सुसज्जित हैं। एयू उद्योगिनी बाजार में मसाले की दुकान, दर्जी की दुकान, ब्यूटी पार्लर, किराना स्टोर, कपड़े की दुकान जैसे अलग अलग आउटलेट शामिल होंगे, जो नवरंगपुरा के लोगों की जरूरी आवश्यकताओं को पूरा करेंगे। इस तरह का पहला और अपनी तरह का अनूठा बाजार न सिर्फ स्थानीय समुदाय की जरूरतों को पूरा करेगा, बल्कि उन्हें एक संगठित बाजार सेटअप में थोक विक्रेताओं के रूप में एक साथ लाकर उनमें स्वामित्व की भावना को बढ़ावा देगा।

उद्घाटन समारोह में श्रीमति ज्योति अग्रवालको-फाउंडरसंजय और ज्योति अग्रवाल फाउंडेशन (एसजेएफ) और श्री कुलदीप ढंकर, विधायक, विराटनगर, उपस्थित थे। इस अवसर पर एयू एसएफबी के  हेड ऑफ स्वदेश बैंकिंग श्री सुल्तानराम जाट और एयू एसएफबी के एग्‍जीक्‍यूटिव वाइस प्रेसिडेंट, मार्केटिंग और सीएसआर श्री सौरभ ताम्बी भी उपस्थित थे।

इस अवसर पर उपस्थित श्री कुलदीप ढंकर, विधायक, विराटनगर, ने कहा “बैंक के सामाजिक सरोहकार की वजह से महिलाएं आत्म निर्भर बन रही हैं।  यह बात जानकार मुझे बहुत  गर्व है क्युकी मैं हमेशा से महिलाओं को स्वयं सहायता समूह के माध्यम से सशक्त बनाने के लिए कार्य करता रहा हूँ।  इस उद्योगिनी बाज़ार के माध्यम से महिलाओं का आत्मविश्वास बढ़ रहा है।  एयू बैंक के माध्यम से महिलाएं लखपति दीदी अवार्ड भी जीत रही हैं।”

इस अवसर पर संजय और ज्योति अग्रवाल फाउंडेशन की को-फाउंडर  श्रीमति ज्योति अग्रवाल ने कहा कि “एयू फाउंडेशन लगातार सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों के लिए विकास के प्रमुख क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। मुझे यह देखकर खुशी हो रही है कि कैसे एयू उद्योगिनी लगातार समाज के इस वर्ग की ग्रामीण महिलाओं के विकास और उन्हें आत्मनिर्भर उद्यमी बनाने के लिए लगातार प्रयासरत है। एयू उद्योगिनी बाजार इन महिलाओं को सशक्त बनाएगा और उनमें स्वामित्व की भावना को बढ़ावा देगा, जबकि एयू फाउंडेशन महिला उद्यमियों के लिए क्षमता निर्माण के साथ-साथ उन्हें बिजनेस शुरू करने के लिए शुरुआती तौर पर पूंजी उपलब्ध कराएगा। साथ ही एयू फाउंडेशन इन छोटे व्यवसायों के लिए किराया भी वहन करेगा। मैं इनमें से हर एक महिला को बधाई देती हूं, जो जमीनी स्तर पर महिला सशक्तिकरण का प्रतीक बन रही हैं”।

अक्टूबर 2020 में लॉन्च की गई एयू उद्योगिनी ने शुरुआत में कोविड-19 महामारी के दौरान प्रभावित हुए दैनिक वेतन भोगी परिवारों की महिलाओं के लिए उद्यमिता के अवसर पैदा करने पर ध्यान केंद्रित किया। तब से इस कार्यक्रम ने ग्रामीण राजस्थान में पिछड़े वर्ग की महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए अपना दायरा बढ़ाया है, जिससे उनकी पारिवारिक आय में बढ़ोतरी हुई है। यह जीवन स्तर को बढ़ाकर मानव विकास सूचकांक में भारत की रैंकिंग में सुधार करने की नीति आयोग की महत्वाकांक्षी योजना के अनुरूप है और इसे नीति आयोग द्वारा परिभाषित जिलों में लागू किया जा रहा है। एयू उद्योगिनी में समुदाय-आधारित व्यवसाय को बढ़ावा देने, स्वयं सहायता समूहों का निर्माण करने और स्वतंत्र व्यवसाय स्थापित करने वाली तीन पहलें शामिल हैं।

महिला उद्यमियों का समर्थन करने के लिए समर्पित तीन प्रमुख पहल शामिल हैं:

  •  खेजड़ी महिला उत्पादक कंपनी, ब्रांड नाम मां अन्नपूर्णा मसाला: महिलाओं के नेतृत्व वाला एक सामुदायिक उद्यम जो क्‍वालिटी मसाले और शुद्ध सरसों का तेल वितरित करने पर केंद्रित है। 120 महिलाओं की सहायता के लिए 8 केंद्र स्थापित किए गए हैं।
  • निर्झरी महिला कारीगर निर्माता कंपनी: एक निर्माता कंपनी के रूप में रजिस्टर, इस पहल में महिलाएं घरेलू साज-सज्जा, परिधान, सिलाई कार्य और रीसाइकिल पेपर प्रोडक्ट आदि बनाने में शामिल हैं।
  • व्यक्तिगत महिला उद्यमशिलता पहल: ब्यूटी पार्लर, कॉस्मेटिक दुकानें, किराना स्टोर, आटा मिलें आदि जैसे छोटे बिजनेस शुरू करने के लिए प्रारंभिक पूंजी के माध्यम से महिलाओं को सहायता प्रदान करने की पहल है।

एयू उद्योगिनी बाजार के माध्यम से, एयू फाउंडेशन वंचित महिलाओं को सशक्त बनाने और उनके जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिए और उनकी सक्रिय भागीदारी को बढ़ावा देने के अपने मिशन पर कायम रहेगा।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here